loader

'होली' भारतीय समाज का एक प्रमुख त्यौहार

  • Blog    >
  • 'होली' भारतीय समाज का एक प्रमुख त्यौहार

'होली' भारतीय समाज का एक प्रमुख त्यौहार


22 Feb 2020


Happy Holi

होली भारत का एक प्रसिद्ध त्योहार है, जो आज विश्वभर में जाना जाने लगा है। यह प्रमुख रूप से भारत तथा नेपाल में मनाया जाता है। मंजीरा, ढोलक, मृदंग की ध्वनि से गूंजता रंगों से भरा होली का त्योहार, फाल्गुन माह के पूर्णिमा को मनाया जाता है। मार्च का महिना जैसे होली के उत्तेजना को बढ़ा देता है। इस त्योहर में सभी की ऊर्जा देखते बनती है पर होली के अवसर पर सबसे अधिक खुश होते हमने बच्चों को देखा है वह रंग-बिरंगी पिचकारी को अपने सीने से लगाए, सब पर रंग डालते और जोर-जोर से “होली है..” केहते पूरे मोहल्ले में भागते भीरते हैं।

होली भारतीय पर्वों में आनंदोल्लास का पर्व है । नाचने-गाने, हँसी-मजाक, मौज-मस्ती करने व ईष्योद्वेष जैसे विचारों को निकाल फेंकने का अवसर है । फाल्गुन मास की पुर्णिमा को यह त्योहार मनाया जाता है । होली के साथ अनेक दंत-कथाएँ जुड़ी हुई हैं । होली से एक रात पहले होली जलाई जाती है ।

इसके लिए एक पौराणिक कथा है कि प्रह्लाद के पिता राक्षस राज हरिण्यकश्यप स्वयं को भगवान मानते थे । वे विष्णु के परम विरोधी थे परन्तु प्रहलाद विष्णु भक्त थे । उन्होंने प्रहलाद को विष्णु भक्ति करने से रोका जब वह नहीं माने तो उन्होंने अनेक बार उन्हें मारने का प्रयास किया ।

प्रहलाद के पिता ने तंग आगर अपनी बहन होलिका से सहायता मांगी । होलिका अपने भाई की सहायता करने के लिए तैयार हो गई । होलिका को आग में न जलने का वरदान प्राप्त था इसलिए होलिका प्रहलाद को लेकर चिता मे जा बैठी परन्तु विष्णु की कृपा से प्रहलाद सुरक्षित रहे और होलिका जल कर भस्म हो गई ।

यह कथा इस बात का संकेत करती है की बुराई पर अच्छाई की जीत अवश्य होती है । आज भी पूर्णिमा को होली जलाते हैं, और अगले दिन सब लोग एक दूसरे पर गुलाल, अबीर और तरह-तरह के रंग डालते हैं । यह त्योहार रंगों का त्योहार है ।

इस दिन लोग प्रात: काल उठकर रंगों को लेकर अपने नाते-रिश्तेदारों व मित्रों के घर जाते हैं और उनके साथ जमकर होली खेलते हैं । बच्चों के लिए तो यह त्योहार विशेष महत्व रखता है । वह एक दिन पहले से ही बाजार से अपने लिए तरह-तरह की पिचकारियाँ व गुब्बारे लाते हैं ।

बच्चे गुब्बारों व पिचकारी से अपने मित्रों के साथ होली का आनंद उठते हैं । सभी लोग बैर-भाव भूलकर एक-दूसरे से परस्पर गले मिलते है। घरों में औरतें एक दिन पहले से ही मिठाई, गुजियां आदि बनाती हैं व अपने पास-पड़ोस में आपस में बाँटती हैं व होली का आनंद उठाती हैं ।

कई लोग ढोल, डफ, मृंदग आदि बजा कर नाचते-गाते हुए घर जाकर होली मांगते है । गाँवों में तो होली का अपना ही मजा होता है । लोग टोलियाँ बनाकर घर-घर जाकर खूब नाचते-गाते हैं। शहरों में कहीं मूर्ख सम्मेलन कहीं कवि सम्मेलन आदि होता हैं ।

Bank Detail

Name : Indian Vedic Astrology
Account number : 50200034921671
Bank name : HDFC BANK
IFSC : HDFC0000144

Santanprapti

patrika

Hastrekha

patrika
love_img